मस्ती की धूम कहीं धूमिल न कर दें : आंखों व त्वचा पर दें विशेष ध्यान

डा. रितिका सचदेव

एडिशनल डायरेक्टर, सेंटर फॉर साइट, नई दिल्ली

अब मार्च में रंगों के त्योहार होली का बड़ी ही उत्सुकता से इंतजार किया जा रहा है. होली से जुड़ा है रंग, गुलाल व अबीर. बच्चों को खासकर इस त्योहार का इंतजार इसलिए होता है क्योंकि उन्हें पानी भरे गुब्बारे व पिचकारियों से खेलने का मौका मिल जाता है. लेकिन, होली के इस रंग को भंग न होने दें-

Eye cancer नेत्र कैंसरयह लाल, पीले, गुलाबी रंग देखने में जितने खूबसूरत लगते हैं, शरीर, आंखों व त्वचा के लिए उतने ही नुकसानदायक भी हो सकते हैं. उस रंग में सीसा नाम का धातु मिला होता है जिसके बहुत से दुष्प्रभाव होते हैं. होली के बाद हास्पिटलों में सामान्य तौर पर त्वचा व आंखों के मरीजों की आवाजाही बढ़ जाती है और आंखें जो कि बेहद नाजुक होती हैं, अगर ध्यान न दिया जाए तो थोड़ी भी लापरवाही बहुत ही घातक हो सकती है. कुछ रंगों के आंखों के साथ संपर्क में आने से आंखों में जलन होने लगती है और आंखें लाल हो जाती हैं. अगर यह समस्या दो चार दिनों में ठीक न हो तो डाक्टर से सलाह लेना जरूरी हो जाता है. आंखों में किसी प्रकार की समस्या होने पर यह देखना चाहिए कि आप की दृष्टि की स्पश्टता में तो कोई कमी नहीं आई है. यदि हां, तो तुरंत डाक्टर से मिलें.


होली पर होने आंखों में होने वाली समस्याएं-

  1. संक्रमण कंजक्टिवाइटिस
  2. केमिकल बर्न
  3. कोर्नियल एब्रेशन
  4. आंखों में चोट

दरअसल, गुलाल में ऐसे छोटे-छोटे कण मौजूद होते हैं जो कि यदि आंखों में चले जाएं तो कोर्निया को नुकसान पहुंचा सकते हैं. कोर्नियल एब्रेशन ऐसी ही एक एमरजेंसी होती है जहां आंखों से निरंतर पानी गिरता रहता है और दर्द भी बना रहता है. यदि ध्यान न दिया जाए तो आंखों में संक्रमण या अल्सर हो सकता है. होली पर गुब्बारों के इस्तेमाल से आंख में अंदरूनी रक्तस्राव हो सकता है या किसी प्रकार की भी चोट लग सकती है. इसलिए ऐसे हालातों में किसी बात का इंतजार न करें. आंखों को किसी प्रकार का खतरा न हो, उससे पहले आप किसी अच्छे नेत्र रोत्र विषेशज्ञ से अवश्य ही संपर्क करें.

कुछ ध्यान देने योग्य बातें

अपनी आंखों को बचाकर रखें. कोई आप के पास रंग लगाने आए तो अपनी आंखों को पहले बचाने का प्रयास करें.

आंखों में चश्मा पहनें जिससे कि खतरनाक रंगों के रसायन से आप की आंखें बच सकें.

बालों पर कोई बड़ी सी टोपी या हैट लगाएं जिससे आप के बाल केमिकल डाई के दुष्प्रभाव को झेल सकें.

नहाते समय और रंगों को निकालते समय आंखों को अच्छी तरह से बंद कर लें ताकि पानी के साथ बहता हुआ रंग आप की आंखों में प्रवेश न कर सके.

यदि आप कहीं बाहर जा रहे हैं तो अपनी गाड़ी के दरवाजे अच्छी तरह से बंद करके रखें. जहां तक हो सके उस दिन कहीं भी ट्रैवलिंग करने का प्लान न ही बनाएं.

घर पर खुद ही रंगों को बनाएं और उन्हीं का इस्तेमाल करें. बाहर के खरीदे हुए रंगों को इस्तेमाल न ही करें तो ही अच्छा है.


बच्चों को गुब्बारों से खेलने के लिए उत्साहित न करें क्यों कि गुब्बारें कभी भी किसी को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं.

डा. रितिका सचदेव एडिशनल डायरेक्टर सेंटर फॉर साइट, नई दिल्ली
डा. रितिका सचदेव
एडिशनल डायरेक्टर
सेंटर फॉर साइट, नई दिल्ली

अपने रंग लगे हाथों को आंखों के पास न ले जाएं. हाथ धोने के बाद ही आंखों को छुएं. आंखों को मसलने या रगड़ने की गलती भी न करें.

ऐसे लोगों से बचने का प्रयास करें जो कि हाथों से आप के चेहरे पर रंग लगाने आएं. यदि कोई रंग लगाने आए तो आप आंखों और होंठों को बंद कर लें कि रंग आप के मुंह या आंखों में न जा पाए.

होली खेलने से पहले चेहरे पर कोल्ड क्रीम की एक मोटी परत लगाएं ताकि रंग लगने के बाद जब आप अपना चेहरा धोएंगे तो रंग आसानी से निकल जाएगा.

यदि आंखों में कोई रंग चला जाए तो तुरंत पानी के छीटें मारें. यदि लक्षण कुछ भीषण प्रतीत हो रहा हो तो तुरंत डाक्टर को दिखाएं.

होली के बाद अगर आप को आंखों में हल्की असहजता महसूस हो रही हो तो रुई के फाहे पर गुलाबजल छिड़क कर आंखों पर थोड़ी देर के लिए रखें. इससे आप को थकी हुई आंखों से आराम मिलेगा.


यदि आंखों में रंग चला जाए और आंखों में जलन, सूजन या दर्द हो तो साधारण साफ पानी से आंखें धोएं. थोड़ी देर देखें, अगर तब भी लक्षण ऐसे ही रहें तो डाक्टर के पास जाएं.

यदि आंख में गुब्बारे या रंग में मिले हुए किसी कण से चोट लग गई हो, रेटिना को नुकसान पहुंचा हो, रक्तस्त्राव हो तो आंखों को पानी से धोने की गलती न करें. ऐसे में आंखें बंद करें और तुरंत हास्पिटल जाएं. (संप्रेषण)

Topic – Coronal embryos, eye-treatment specialists, damage to the retina, holi, infection conjunctivitis, chemical burn, eye injury, center for site,

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.